Skip to content
गज़ल
सारे रिश्ते खफ़ा हो गए, मुश्किलो में हवा हो गए।। है यकीं है यकीं बस यही मीत मेरे दफ़ा हो गए।। खामखा आ गई याद... Read more
गीत
govind sharma गीत Mar 29, 2017
एक गीत... हमारी जाँ पे आफत हो रही है, हमे जब से मुहब्बत हो रही हैं।। नही है होश मुझको रात दिन का, नशे की... Read more
घरो को घर बनाती…
रात दिन है मुस्कुराती बेटियां, दो घरो को घर बनाती बेटियां। चाकरी करती है मगर थकती नहीं ग़मज़दा भी खिलखिलाती बेटियाँ ख्वाहिशो के आसमानों के... Read more
मुक्तक
मुक्तक...... इस मुहब्बत में मिला कुछ नही., आशिकी से अब गिला कुछ नही, चाहतो के सिलसिलों को हर दफा, उम्र भर हमदम मिला कुछ नही।।1... Read more
मुक्तक
उठा अपनी कलम फिर जंग का आग़ाज़ कर मुश्किलो को तोड़कर अम्बर में तू परवाज कर, बिछ गया है देख भष्टाचार का आतंक यहाँ, अब... Read more