Skip to content

गौर के शहर में खबर बन गया हूँ ।

१लड़की के प्यार में शायर बन गया हूँ ।

Share this:
All Postsकविता (21)गज़ल/गीतिका (3)मुक्तक (10)शेर (3)कव्वाली (2)
मुक्तक
जरूरत एक छोटी सी जीने को सब क्यों होती है ? ? ? ? ? ? ? हरपल उनके दीदार की ख्वाहिश अब क्यों होती... Read more
मुक्तक
फीकी-फीकी है जिंदगी जीने में अब स्वाद कहां है दिल तिजोरी ना रहे मुहब्बत अब जायदाद कहां है हाल ऐ दिल समझाने में दिल हलाल... Read more
बताओ तो !
दिल को कोई ठोकर लगी,,,,,,,,, बताओ तो ! ???????? इश्क था या दिल की ठगी,,,,,,,,, बताओ तो ! ???????? तेरे दिल से जो निकले जाना... Read more
मुक्तक
????????? तड़प ऐ इश्क की दिल से कही नहीं जाती चंद कदमों की दूरी भी अब सही नहीं जाती इक तलब महबूब की और जमाने... Read more
मुक्तक
इश्क रोकर सींचे तो क्या, मतलबी दुनिया बंजर है मासूमियत चेहरे पे तो क्या, नफरतों का ही मंजर है यहां बस दिल के बदले में... Read more
मुलाकात ऐसी हो
खिली चांदनी हो खुला आसमां हो मिले हमतुम ऐसे की बेसुध जहां हो ?????????? ?????????? रंगी फिजायें और चंचल हवायें हमे देखकर छुपके गुल मुस्कुरायें... Read more
मुक्तक
?????????? मुहब्बत की राहों से गुजर कर देखा है गुलाब की हर कली को नजर भर देखा है रंगत ही नहीं खुशबुओं को भी चुरा... Read more
भारतीय फौज
???????????????????? आम नहीं इनकी जिंदगी, मौका है हक अता करने का किस्मत वालों को मिलता, मौका ये वतन पे मिटने का ?????????? ???????????????????? अमृत का... Read more
बेबस दिवाने
????????? मुहब्बत ही तो जालिम है कहे किस से बता यारा ????????? हमारे इश्क का दुश्मन बना बैठा है जग सारा ????????? तुम्हारी याद में... Read more
मोदी एक आंधी है
राहुल गांधी सोनिया गांधी से :- मोदी एक आंधी है कि बच पाना ही मुस्किल है कांग्रेस मुक्त नाकर छोड़े अकेला ही तो काबिल है... Read more
आरक्षण
जबतक आरक्षण भारी है,छुआछूत भी जारी है जागो नींद से मित्रों बगावत की ये बारी है किस हक को वो खोज रहे, कबतक कुत्तों की... Read more
यादों का सफर
सजदे तेरे प्यार के मैंने जो थे किये उनको दुहरा रहा नैना अश्क लिये बस एक तेरी आरज़ू इस दिल में रही तू मिल जा... Read more
दर्द बेटियों का
हर्षित था परिवार सबको था किसी का इंतजार कोई बेटे कोई भतीजे तो कोई पोते को था बेकरार कुछ पल में बो आई बारी घरभर... Read more
दो पल की मौत
एक ठोकर सी लगी दिल में सांसें ही थम गईं । झटका था इस कदर की रूह तक सहम गई । चारों ओर सन्नाटा था... Read more