Skip to content

बचपन देहरादून में बीता शुरू से लेखन से लगाव रहा कालेज पत्रिका में भी रचनाऐं प्रकाशित होती रही शादी के बाद काफी समय लेखन रुक सा गया बीते कुछ वर्षो में फिर से लिखना शुरु किया और दो पुस्तकें प्रकाशित हुई

Hometown: Delhi
Published Books

1. Kuch geet kuch sapne kuch pyaar bhare kuch apne
2. Ehsaas

Share this:
All Postsकविता (6)शेर (1)
हर रोज
हर रोज एक पन्ना पलट लेता हूँ और जिन्दगी के मायने समझ लेता हूँ ये रोज बदल लेती है अपना लिबास आँखों में भर देती... Read more
दर्द
GEETA BHATIA शेर Feb 18, 2018
जब लगता है जनाज़ा अरमानो का उठता है तब दर्द पिघल कर आँसुओं में ढलता है ####################### जिन्दगी के दर्द का यूँ छुपा गये जख्म... Read more
नम आँखे
आँखें नम तो ठिठुरती हवाओं की भी हुआ करती हैं तभी तो ओंस बन के फूलों पे गिरा करती हैं कौन जाने ये आँसू हैं... Read more
खामोशी
संभाल के रखी है तेरी खामोशी हमने जब उदास होता हूँ सुन लेता हूँ बूँदों की टप टप कानों में गूँजती है थोड़ा मौसम का... Read more
तिरंगा
तीन रंग तिरंगा फहरे आसमान को छूले चक्र चले ऐसा सुन्दर दिल दुनियां का जीते वीर सुभाष वीर भगत सिंह वीरों की है धरती वीरों... Read more
आखिर ये "मैं" क्या है ? क्या ये अभिमान है या स्वाभिमान है या आत्मसम्मान है या रहेगा एक प्रश्न हमेशा उत्तर है जिसका अंहकार... Read more
बेटियाँ
श्रृंगार रस में जब जब सजती हैं बेटियाँ बड़ी नाजुक सी कोमल सी दिखती हैं बेटियाँ वक्त आये तो दुर्गा रुप भी धरती हैं बेटियाँ... Read more