Skip to content

नाम- दुष्यंत कुमार पटेल
उपनाम- चित्रांश
शिक्षा-बी.सी.ए. ,पी.जी.डी.सी.ए.
एम.ए हिंदी साहित्य,
आई.एम.एस.आई.डी-सी .एच.एन.ए
Pursuing - बी.ए. , एम.सी.ए.
लेखन - कविता,गीत,ग़ज़ल,हाइकु, मुक्तक आदि
My personal blog visit
This link hindisahityalok.blogspot.com

Share this:
All Postsकविता (55)गज़ल/गीतिका (26)मुक्तक (2)गीत (21)दोहे (1)हाइकु (4)
वतन के दिलवाले (कुकुभ छन्द)
अमन नहीं केसर घाटी में,आतंक जड़ से मिटाओं l कश्मीरी पत्थरबाजो को,कोई तो सबक सिखाओं ll भारत के इस पुण्य जमीं पर,दुश्मन को पनाह ना... Read more
बरसात की ऋतु
सावन आया बरसे छम-छम कर बदरा धरती ओढी मखमल हरित चुनरिया मिट्टी से सौंधी-सौंधी खुश्बू आई गाँव में हरियाली मनभावन नज़रिया नव जीवन चहुँओर मधुरमय... Read more
*तुम चन्द्रमुखी*
चन्द्रसुशोभित हे प्रिय तेरा मुख मन्ड़ल मनवां कुन्दन मधुबन काया है संदल है मृगलोचन अलके रेशम श्यामल सी कोयल सी मीठी बातें औ' मलयाचल कोंपल... Read more
*नारी राष्ट्रशक्ति*
नारी राष्ट्रशक्ति किरणमयी, गरिमा,संस्कृति,निधि औ' सुचिता l संस्कार शालीन है गहना, तुम करुणा ममता की सरिता ll तुम जग जननी जीवन-संगिनी, हो विश्व विजयिनी कल्याणी... Read more
बोलो हरे कृष्णा
बोलो हरे कृष्णा, बोलो हरे मुरारी बोलो हरे कृष्णा, बोलो कुंज बिहारी तेरा रोम-रोम पुलकित हो जायेगा तेरे मन की पीड़ा मिट जायेगा मन मथुरा,तन... Read more
बरसे श्याम बदरिया
चम-चम चमके गड़-गड़ गरजे बिजुरिया सावन आया बरसे श्याम बदरिया मिट्टी से सोंधी-सोंधी खुश्बू आई धरती ओढी मखमल हरित चुनरिया खुशहाली चहुँओर नवरंग- नव जीवन... Read more