Skip to content

Doctor (Physician) ; Hindi & English POET , live in Lucknow U.P.India

All Postsकविता (10)मुक्तक (28)गीत (7)अन्य (1)
साहस अभाव
.... गीत .... " साहस अभाव " साहस अभाव में सुजनों के दुष्टों का साहस पलता है हों असुर अधर्मी धरनी पर उनका दुःशासन छलता... Read more
अश्रुनाद
. .... मुक्तक .... नीलाम्बर में लहराऊँ सतरंगी पंख सजाऊँ जीवन के शून्य गगन में बनकर विहंग उड़ जाऊँ भावानुवाद ( स्वरचित ) Waverer in... Read more
अश्रुनाद
...मुक्तक ... मधुऋतु मधुरिम लहराये सरगम नव वाद्य बजाये फिर सप्त सुरों में कोयल जीवन संगीत सुनाये भावानुवाद ( स्वरचित ) Malodic season looking Sweet... Read more
अश्रुनाद
. .... मुक्तक .... प्रतिध्वनियाँ हिय गुञ्जातीं स्मृति चिन्हों से टकरातीं अभिलाषित सघन घटनाएं नयनों को आ बरसातीं भावानुवाद ( स्वरचित ) Echoing in my... Read more
अश्रुनाद
. .... मुक्तक .... सावन बदली जब आती तब विरह रागिनी गाती उर में दामिनि दृग बूँदे सुस्मृति निर्झर कर जाती अँग्रेज़ी भावानुवाद ( स्वरचित... Read more
अश्रुनाद
. .... मुक्तक .... भव- सिन्धु प्रलापित फेरे लहरें सुनामि बन घेरे भू- गर्भ प्रकम्पित होता जब अश्रुनाद से मेरे डा. उमेश चन्द्र श्रीवास्तव लखनऊ
मुक्तक
. .... मुक्तक .... तिमिराञ्चल में शालायें कल्पित शशि कलित कलायें तम के छल में खो जातीं उत्तुंग शिखर मालायें डा. उमेश चन्द्र श्रीवास्तव लखनऊ
गीत
. .... गीत ..... चिर- पुरातन प्रेम की नित बह रही नव धवल धारा थिर धरातल सुखद संगम रूप सुन्दरतम् तुम्हारा कोटि तारक अवनि अम्बर... Read more
अश्रु- नाद
...... मुक्तक ..... ... अनबूझ नियति ने खेली जीवन की दुखद पहेली हे! विकल वेदने मेरी बन जाओ सुखद सहेली परिहास किया जीवन का निर्मल... Read more