Skip to content

*काव्य-माँ शारदेय का वरदान *

Hometown: पानीपत
Awards & Recognition

विभिन्न मंचों द्वारा सम्मानित

Share this:
All Postsकविता (7)गज़ल/गीतिका (26)मुक्तक (44)गीत (4)दोहे (2)
*वीरों का गान*
दिल में इनके हरदम बसता प्यारा हिंदुस्तान है जान लुटाते ये सीमा पर अजब निराली शान है दुश्मन को ललकारें ये चौड़ा सीना तान के... Read more
*विधाता छंद*मापनी-1222 1222 1222 1222
ऐ सुमन मुरझा नहीँ तू मुस्कुराना सीख ले मन चमन घबरा नहीँ तू खिलखिलाना सीख ले प्रीत का पलड़ा रहा है हर घड़ी ही डोलता... Read more
*इरादों में तुम रखना जान*
इरादों में तुम रखना जान और मुट्ठी में आसमान हर मुश्किल के ही आगे,लेना अपना सीना तान ::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: राहें तेरी मीत बनेंगी,आगे बढ़ने की लो... Read more
*हवा का झोंका*
मस्त हवा का झोंका आया लहराया फ़िर है बलखाया :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: वसुधा नाची झूम-झूम कर अम्बर ने भी गान सुनाया ::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: महक उठा है मन का... Read more