Skip to content

A retired LIC Officer of age 64+. Writing since 50 years. A collection named "एक पन्ने पर कहीं तो" published.

All Postsकविता (4)गज़ल/गीतिका (2)
कविता
                     28 मई, 2016 को नई दिल्ली के नारायण दत्त तिवारी भवन में हुए अखिल भारतीय... Read more
ग़ज़ल
उत्तर प्रदेश के कैराना की हालत को बयान करती एक ग़ज़ल ---------------------------------------------- ग़ज़ल ----- ज़ुबाँ पर ख़ौफ़ के ताले, दिलों में दर्दे रूखसत है। बिकी... Read more
कविता
चाहे पटेल आरक्षण आन्दोलन पर समझ लो, चाहे जाट आरक्षण आन्दोलन पर; भाव वही हैं। हिंसक आंदोलनों को एक तमाचा: होश को तालों मे कर... Read more
सरस्वती वन्दना
दे मातु शारदे सबको प्रकाश की किरण, दे मातु शारदे। ख़ुशियों की कोई अंजुमन, दे मातु शारदे। विद्या का दान, सबकी झोलियों में डाल दे।... Read more
कविता
भारत माता की जय बोलो -------------------- अपने मन की गाँठें खोलो। भारत माता की जय बोलो। इस मिट्टी में जन्मे हैं हम, इस मिट्टी में... Read more
ग़ज़ल
ग़ज़ल बादलों का एक टुकड़ा, गगन में आया तो है। बारिशों की ख़्वाहिशों ने, पँख फैलाया तो है। कब से जाने जल रहे थे, धूप... Read more