Skip to content
ग़ज़ल - यूँ मरने का इरादा
यूं मरने का इरादा क्यों करुँ मैं तिरी हसरत ज़ियादा क्यों करूँ मैं हैं मेरी लरजिशें अंदाज़ मेरा यूं अहदे तर्के बादा क्यों करूँ मैं... Read more