Skip to content

मैं एक प्रोफ़ेश्नल सोशल वर्कर हूं..ज़िन्दगी में होने वाले अनुभवों और अपने विचारों की अभिव्यक्ति अपने लेखों और कविताओं के माध्यम से कर लेती हूं..

Hometown: देहरादून
Share this:
All Postsकविता (11)लेख (4)लघु कथा (1)
मन
ये मन भी बड़ा ही अज़ीब है..कभी कभी अच्छा महसूस नहीं करता..पर फिर भी अपने आपको मज़बूत एहसास कराता रहता है..अच्छा दोस्त है मेरा ये..कभी... Read more
दिवाली को मैंने बस यूं अकेले मनते ही देखा है
मैंने अब रिश्तो में कटुता देखी है मन में कुंठा दिलों में उदासी देखी है कहने को है परिवार बड़ा.. दिवाली को मैंने बस यूं... Read more
*मेरा भारत महान..जय मेरा हिन्दुस्तान*
गर्व है तुझपे हे भारत माँ सुसंस्कृति की तू प्यारी जननी महान हे माँ तुझपे मेरी जान कुर्बान मेरा भारत महान, जय मेरा हिन्दुस्तान शीश... Read more
*माता पिता और संतान के बीच घुटते-मरते रिश्ते*
*माता पिता और संतान के बीच घुटते-मरते रिश्ते* अक्सर सोचती हूं वृद्ध माता पिता और बच्चों के बीच तालमेल क्यों नहीं बैठ पाता..क्यों बच्चे माता... Read more
*ज़िन्दगी की कशमकश*
बड़ी मुश्किल है ये ज़िंदगी.. दिल चाहे है फिर से बच्चा बन जाना अपनों के लिए जीना..सदा मुस्कुराना..गमों को छिपाना.. यही ज़िंदगी है..क्यों छटपटाना बड़ी... Read more