Skip to content
तितली
काश की मैं एक तितली होती । नीली पीली चमकीली सी, रंगो वाली चटकीली सी। फूलों के ऊपर मंडराती, कलियों का मैं जी बहलाती। अपनी... Read more
पतिंगे का प्यार
नन्हां सा दिया देख उमड़ता प्यार है पतिंगे का, जलते हुये दिये पे जां निसार है पतिंगे का। छड़िक सुख की खा़तिर सब कुछ विसार... Read more
विकास की सोच
सनसनी है हर तरफ आगमन विनाश का सोचिए क्या हस्र होगा देश के विकास का। जो हैं आदृत लोग यहां वो कुर्सियां बचाते हैं, उत्कोच... Read more
माँ का आँचल धन्य है ।
Alka Keshari गीत Aug 30, 2017
धन्य.धन्य मेरी भारत माँ का आँचल धन्य.है, प्रहरी बना हिमालय वो हिमांचल धन्य है। लहराती बलखाती नदियां बहती जिसके आँगन में, कोयल प्यारी गीत सुनाए... Read more
इन्सान बडा़ है
Alka Keshari गीत Aug 30, 2017
ना हिन्दू बडा़ है ना मुसलमान बडा़ है इन्सानियत हो जिसमें वो इन्सान बडा़ है। एक ही अल्लाह एक ही राम हैं, एक ही दाता... Read more