Skip to content

मैं कोई लेखक नहीँ हूँ साधारण सी बात कहने वाला एक आम इंसान हूँ।।

Share this:
All Postsकविता (1)लेख (1)शेर (4)कहानी (1)
बदलता वक़्त
Abhinav Saxena शेर May 31, 2017
बदलते वक्त का शेर है कि, अच्छा या बुरा वक्त आता है बदल जाने के लिए इंसान को इंसानी फितरत याद दिलाने के लिये। वक़्त... Read more
मतला और कुछ शेर
Abhinav Saxena शेर May 16, 2017
जब उन्हें इश्क़ न हुआ तो हमने बहाना कर लिया, अपनी तरफ उन्हें छोड़कर सारा जमाना कर लिया। आंसू खुशी के किस्मत में हैं ही... Read more
मतला और एक शेर
Abhinav Saxena शेर May 11, 2017
आसमानों के ऊपर भी कहीं कुछ जमीं है क्या, तुम्हारी आँखों में अब तक वही नमीं है क्या। फुरसत के पलों में आज हमने ये... Read more
सड़क छाप पत्रकार
प्यारे दद्दू, हम हियाँ एकदम ठीक हैं। घर से चलते बखत आप हमसे बोले थे कि बेटा वैज्ञानिक बन जाना, टीचर बन जाना, अधिकारी बन... Read more