Skip to content

व्यवस्थापक- अस्तित्व
जन्मतिथि- १-०८-१९७३
शिक्षा - एम ए - हिंदी
एम ए - राजनीति शास्त्र
बी एड - हिंदी , सामाजिक विज्ञान
एम फिल - हिंदी साहित्य
कार्य - शिक्षिका , लेखिका
friends you can read my all poems on my blog (साहित्य सिंधु -गद्य / पद्य संग्रह)
myneerumohan.blogspot.com
Mail Id- neerumohan6@gmail.com
mohanjitender22@gmail.com

Share this:
All Postsकविता (75)गज़ल/गीतिका (4)मुक्तक (5)गीत (4)लेख (7)शेर (2)दोहे (1)लघु कथा (3)कहानी (6)हाइकु (11)
मैं हूँ प्रसून
मैं हूँ प्रसून गुलाब, गेंदा, सूरजमुखी, मोगरा कहो या कहो चमेली । फूल हूँ मैं... रंग रूप हजार नाम से ही मेरी पहचान । लाल... Read more
महादेवी वर्मा---देश का गौरव
महादेवी वर्मा---देश का गौरव ************************ प्रतिभावान कवयित्री मीराबाई की उपाधि पाई है । स्वतंत्रता सेनानी भी महादेवी युग छायावाद की प्रमुख स्तंभ कहलाई है ।... Read more
ममता,प्यार,करुणा,त्याग की मूर्त ( पन्नाधाय )
ममता,प्यार,करुणा,त्याग की मूर्त                 पन्नाधाय *************************** राणा के पुत्र को जीवन देकर अपने पुत्र का बलिदान किया । पन्नाधाय न अपनेे ममता, प्यार, करुणा का... Read more
सुंदरता और त्याग का प्रमाण रानी पद्मावती
सुंदरता और त्याग का प्रमाण रानी पद्मावती ********************************** पद्मिनी पतिव्रता नारी थी वो जौहर के लिए तैयार हुई । चित्तौड़ की खातिर रानी पद्मा अग्नि... Read more
सौतेली मां
इंसानियत कहीं खो गई अरुण घर में प्रवेश करता है आज भी रोशनी बहुत गुस्से में दिखाई दे रही थी । बच्चे दूसरे कमरे में... Read more
कागज बचाओ पेड़ बचाओ
कागज का उचित प्रयोग करो दुरूपयोग न इसका आज करो कल को तुम्हें संवारना है पर्यावरण को भी संभालना है कागज को अगर बचाओगे पेड़ोंकी... Read more
****सफेद जोड़ा****
आज मन क्यूं इतना घबराया है । ईश्वर की इस धरा पर यह कैसा मंज़र छाया है । सफेद जोड़े में सिमटी-सी बैठी हूँ ।... Read more
***यह कैसी शिक्षा***
Neeru Mohan लेख Oct 16, 2017
विषय - नई शिक्षा नीति नीति चाहे नई हो या पुरानी उसका उद्देश्य केवल विद्यार्थियों का सर्वाँगिण विकास होना चाहिए । क्योंकि आज जिनके भविष्य... Read more
सरल सुगम हिंदी व्याकरण (जानने योग्य बातें - ई और यी, ए और ये ,एँ और यें)
करते है हिंदी लिखने में अकसर ये गलती क्योंकि नहीं है ज्ञान लगाएँ कहाँ ई और यी ए और ये एँ और यें हिंदी नहीं... Read more
***अनुभव***
Neeru Mohan लेख Sep 24, 2017
* कहते हैं एक चिंगारी या तो आग लगाती है या प्रकाश फैलाती है । रोशनी देने वाली चिंगारी का इस्तेमाल अगर ध्यान से किया... Read more
***खोजता स्वअस्तित्व अपना***
विषय- खोज/तलाश रेंगा काव्य शैली 5+7+5+7+7+5+7+5+7+7----- * माँ दरबार मनोकामना पूर्ण तलाश मेरी संपूर्ण फलीभूत इच्छाएँ हैं संतुष्ट * खोजता आज स्वअस्तित्व अपना रात्रि का... Read more
* खोजता आज  स्वअस्तित्व अपना *
विषय- खोज/तलाश रेंगा काव्य शैली 5+7+5+7+7+5+7+5+7+7----- * माँ दरबार मनोकामना पूर्ण तलाश मेरी संपूर्ण फलीभूत इच्छाएँ हैं संतुष्ट * खोजता आज स्वअस्तित्व अपना रात्रि का... Read more
***** अनुभव *****
Neeru Mohan लेख Sep 17, 2017
* कहते हैं एक चिंगारी या तो आग लगाती है या प्रकाश फैलाती है । रोशनी देने वाली चिंगारी का इस्तेमाल अगर ध्यान से किया... Read more
***मेरी आवाज़ सुनो***
जापानी काव्य शैली(तांका) 5+7+5+7+7+5+7+5+7+7---- ***मेरी आवाज़ सुनो*** वहशी जन करें कुकर्म सब ममता घुटे तिल-तिल मरे माँ ममता की पुकार रोज करती न्यायालय से माँग... Read more