.
Skip to content

? कलियुगी मित्र?

तेजवीर सिंह

तेजवीर सिंह "तेज"

कुण्डलिया

August 6, 2017

?? *मित्रता दिवस* ??
??????????

कैसे-कैसे तीर ये, करते चहुँदिश वार।
आज मित्रता हो गई,मतलब का व्यापार।।

मतलब का व्यापार, सभी हित साधें अपना।
नीति न्याय अपनत्व, लगे सुंदर सा सपना।
फिर कें मिलै न फेर, दिए यदि तुमने पैसे।
करें पीठ पै वार, मित्र हैं कैसे-कैसे।।

??????????
?तेज मथुरा✍

Author
तेजवीर सिंह
नाम - तेजवीर सिंह उपनाम - 'तेज' पिता - श्री सुखपाल सिंह माता - श्रीमती शारदा देवी शिक्षा - एम.ए.(द्वय) बी.एड. रूचि - पठन-पाठन एवम् लेखन निवास - 'जाट हाउस' कुसुम सरोवर पो. राधाकुण्ड जिला-मथुरा(उ.प्र.) सम्प्राप्ति - ब्रजभाषा साहित्य लेखन,पत्र-पत्रिकाओं... Read more
Recommended Posts
मित्रता (मित्रता दिवस पर)
?????? मित्र हो तो कृष्ण की तरह हो जो भले ही मित्र लिए लड़े नहीं, पर सुनिश्चित करें कि मित्र जीत जाये। या तो फिर... Read more
मित्रता का बीज
???? मित्रता का बीज दो क्यारियों में एक ही वेग से उगता है, और एक ही वसंत में खिलता है। मित्र में कौन छोटा ?... Read more
मित्र
★★★मित्र★★★ .............. .............. मित्र तो बस मित्र है वह आम है ना खास है। मित्र से ही जीवन में खुशीयाँ तेरे पास है।। मित्र है... Read more
कसौटी प्रेम और विश्वास की....
तुमको न भूल पायेगें.... मित्रता विशेषण ही नहीं अपने आप में विशेष्य भी है महज कुछ शब्दों के क्रम में बाँधा नहीं जा सकता! रक्त... Read more