.
Skip to content

??माँ??

कृष्णकांत गुर्जर

कृष्णकांत गुर्जर

कविता

May 14, 2017

??माँ??
माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो
माँ अमृत की बूँद है माँ को बिखरने तुम न दो
आँख से निकले आसू गर उसको भी गिरने तुम न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो
??माँ??
माँ ही ब्रम्हा माँ ही विष्णु माँ ही भोले नाथ है
हर मुश्किल मे बिन स्वार्थ के देती माँ ही साथ है
ईश्वर के इस को अब तुम बिलखने अब न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो
??माँ??
माँ ही गंगा माँ ही यमुना माँ कावेरी रेवा है
तत्पर रहकर विन स्वार्थ के करती माँ ही सेबा है
अपनी माँ को ऐसे यारो अब विलखने तुम न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो
??माँ??
माँ मृत्यु माँ ही जीवन माँ ही यारो प्राण है
सारे जग का यारो सुनलो करती माँ कल्याण है
माँ की प्यारी ममता को अब उजड़ने तुम न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो
??माँ??
माँ ही भव है माँ ही सागर माँ ही जग से तार दे
सारी जिंदगी खुशहाली से यारो माँ गुजार दे
माँ गरीब लाचार को अब तुम विलखने तुम न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो
??माँ??
सारी दुनि़या बनी पुजारी माँ से यारी श्रृष्टि हारी
माँ से होते नर उर नारी सारी दुनिया माँ को प्यारी
बिन माँ के सब सून है यारो,माँ को मचलने तुम न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो
??माँ??
माँ की सेबा करले कृष्णा मां करती भवपार है
माँ ही जीवन का प्यार है माँ ही सब संसार है
अपनी जननी मैया को अब तड़पने तुम न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो
??माँ??

Author
कृष्णकांत गुर्जर
संप्रति - शिक्षक संचालक G.v.n.school dungriya G.v.n.school Detpone मुकाम-धनोरा487661 तह़- गाडरवारा जिला-नरसिहपुर (म.प्र.) मो.7805060303
Recommended Posts
माँ बडी अनमोल है माँ को तडपने तुम न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तडपने तुम न दो| माँ अमृत की बूँद है माँ को बिलकने तुम न दो|| माँ की ममता तुम... Read more
माँ मेरी माँ
???? माँ मेरी माँ, मुझे छोड़ के मत जाओ कुछ दिन तो मेरे साथ बिताओ। माँ मैं तुम बिन अकेली हो जाती हूँ, जब तुम... Read more
पहला पहला प्यार
?? ललित छंद?? पहला - पहला प्यार जगत में, माँ का ही होता है। भगवान जैसा प्यार माँ के, प्यार से झलकता है।। हर बच्चे... Read more
अनमोल माँ
मेरी माँ है जग से न्यारी, हम को जाँ से प्यारी है। देव् तुल्य है देवी माँ जो , हम को धरा उतारी है।। रात... Read more