.
Skip to content

??मुक्तक?? माँ का प्यार ही

दुष्यंत कुमार पटेल

दुष्यंत कुमार पटेल "चित्रांश"

मुक्तक

August 26, 2016

??मुक्तक??

माँ का प्यार ही इस संसार का पहला प्यार है
माँ से ही जुड़ी इस दुनिया के हर एक तार है
कल्पना किसी चीज़ की संभव नहीं माँ बिन
इस संसार का इस जीवन की माँ ही आधार है

✍✍दुष्यंत कुमार पटेल✍✍

Author
दुष्यंत कुमार पटेल
नाम- दुष्यंत कुमार पटेल उपनाम- चित्रांश शिक्षा-बी.सी.ए. ,पी.जी.डी.सी.ए. एम.ए हिंदी साहित्य, आई.एम.एस.आई.डी-सी .एच.एन.ए Pursuing - बी.ए. , एम.सी.ए. लेखन - कविता,गीत,ग़ज़ल,हाइकु, मुक्तक आदि My personal blog visit This link hindisahityalok.blogspot.com
Recommended Posts
??माँ??
??माँ?? माँ बडी अनमोल है माँ को तड़पने तुम न दो माँ अमृत की बूँद है माँ को बिखरने तुम न दो आँख से निकले... Read more
माँ शारदे माँ शारदे
तू भूल मेरी कर क्षमा खुशियों भरा संसार दे माँ शारदे माँ शारदे, नादान हूँ पर प्यार दे मैं राह सच्ची पर चलूँ देना सदा... Read more
माँ का प्यार
माँ का प्यार ज़िन्दगी जीने का अंदाज़ भले ये संसार देता है। पर जमाने से लड़ने की ताकत माँ का प्यार देता है। ज़िन्दगी में... Read more
माँ बडी अनमोल है माँ को तडपने तुम न दो
माँ बडी अनमोल है माँ को तडपने तुम न दो| माँ अमृत की बूँद है माँ को बिलकने तुम न दो|| माँ की ममता तुम... Read more