Dec 29, 2017 · कविता

➡याद मेरी आती तो होगी➡

*याद मेरी आती तो होगी*

चाँदनी रात में याद,,
मेरी आती तो होगी,,

चुपके चुपके तेरे अश्क़,,
आंखे गिराती तो होगी,,

फूल बगियाँ में खिले देख,,
मुस्कान मेरी ,याद आती तो होगी,,

हसीन शुहानी शाम को देख,,
संग बीती मुलाकाते ,याद आती तो होगी।

अमावस्य की अंधयारी में,,
शमा की याद बहुत आती तो होगी,,

रेशमी बालों में लगे गजरे देख,,
प्यार की ख़ुश्बू मेरी आती तो होगी।

राह की पगडंडी खाली देख,,
तेरी नजरें मुझे ढूंढती तो होंगी,,

रह रहकर के तेरे सीने में,
मेरी सोनु की हूँक उठती तो होगी।

*गायत्री सोनू जैन मन्दसौर*

2 Comments · 980 Views
Govt, mp में सहायक अध्यापिका के पद पर है,, कविता,लेखन,पाठ, और रचनात्मक कार्यो में रुचि,,,...
You may also like: