Skip to content

★आओ बच्चों सब मिलकर गायें स्वरगीत★

Sonu Jain

Sonu Jain

कविता

December 12, 2017

*आओ बच्चो सब मिलकर गायें स्वरगीत*

*अ* से अनार के दाने लाल,,
बच्चों खाकर करो धमाल।।

*आ* से आम फलों का राजा,,
चुन्नू -मुन्नू आकर खा जा ।।

*इ* से इमली खट्टी होती,,
दादी इसकी चटनी बनाती।।

*ई* से ईख मीठी होती,,
गुड़ और चीनी इससे बनती।।

*उ* से उल्लू दिन में सोता,,
भोर होते देख गुम होता।।

*ऊ* से ऊन का गोला प्यारा,,
बच्चों इससे बनता स्वेटर हमारा।।

*ऋ* से ऋषि होता महान,,
जो जगत को देता ज्ञान।।

*ए* से एड़ी से हम चलते,,
इधर उधर हम खूब दौड़ते।।

*ऐ* से ऐनक घर मे लाते,,
दादा-दादी को पहनाते।।

*ओ* से ओखली में कुटो दाना,,
सब मिलकर गाओ गाना।।

*औ* से औरत घर मे रहती,,
परिवार का ख्याल है करती।।

*अं* से अंगूर के गुच्छे प्यारे,,
देखके लगता खा लूँ सारे।।

*अ:* तो होता है खाली,,
आओ बच्चों सब मिलकर बजाएं ताली।

*गायत्री सोनू जैन मंदसौर*

Share this:
Author
Sonu Jain
Govt, mp में सहायक अध्यापिका के पद पर है,, कविता,लेखन,पाठ, और रचनात्मक कार्यो में रुचि,,, स्थानीय स्तर पर काव्य व लेखन, साथ ही गायन में रुचि,,,
Recommended for you