Jul 17, 2020 · कविता
Reading time: 1 minute

~~◆◆{{◆◆मात लिखो◆◆}}◆◆~~

कुछ बनना है तो कुछ खास लिखो,चाँद कितनी भी हो दूर उसको दिल के पास लिखो.

मत बहो एक छोटी सी नदी बनकर,बन समंदर गहराई से इतिहास लिखो।

गोरा काला कुछ भी नही,सब एक है बस इंसानियत जात लिखो.

ज़िन्दगी की ठोकरें लेकर क्या रोना,लड़ते लड़ते मौत से मुलाक़ात लिखो।

सच्चाई की पकड़ बड़ी मजबूत है,कभी ना झूठ पर फिसलते हाथ लिखो।

कहीं वक़्त बनाये पकड़ तुमारी कमजोरी पर,उससे पहले वक़्त के सीने पर अपने हुनर से मात लिखो।

6 Likes · 6 Comments · 40 Views
Copy link to share
Aman 6.1
104 Posts · 3.3k Views
Follow 3 Followers
नसीब की क्या बात हौंसले बुलंद रखिये, दिल तो क्या है बहक जाता है,इरादे अक्लमंद... View full profile
You may also like: