Dec 11, 2017 · मुक्तक
Reading time: 1 minute

ज़िन्दगी वाह की भी डगर

एक मुक्तक

ज़िन्दगी वाह की भी डगर
ज़िन्दगी आह की भी डगर
है सफर बस न इतना सुनो
बीच में डाह की भी डगर
डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद(उ प्रदेश)

25 Views
Copy link to share
Dr Archana Gupta
996 Posts · 118.8k Views
Follow 72 Followers
डॉ अर्चना गुप्ता (Founder,Sahityapedia) "मेरी तो है लेखनी, मेरे दिल का साज इसकी मेरे बाद... View full profile
You may also like: