शेर · Reading time: 1 minute

ग़ुरूर कहूँ

तुम्हारे नकटेढ़ेपन पन को ,मैं फिर से क्या ग़ुरूर कहूँ।
ये तुम्हारा अल्हड़पन कहूँ या आदत से मजबूर कहूँ।
-सिद्धार्थ

1 Like · 52 Views
Like
You may also like:
Loading...