.
Skip to content

होली गीत

Radhey shyam Pritam

Radhey shyam Pritam

गीत

March 12, 2017

रंगबिरंगें फूलों जैसा,है त्योहार ये होली का।
प्यार सिखाए भेद भुलाके,ये त्योहार होली का।।

(1)
गाल गुलाबी,चाल शराबी,हाथ में ले पिचकारी।
रंग उड़ाएँ,नाचें गाएँ,छैल-छबीले मारें किलकारी।
ढोल-नगाड़े बजने लगे,आया त्योहार होली का।
प्यार सिखाए…………………।
(2)
जोकर बने हैं आज सभी,देख आए मुख पे हँसी।
काले-पीले,रंग-रंगीले,हो गए हैं,देखो रे! सभी।
प्यार ख़ुशी का है खज़ाना,ये त्योहार होली का।
प्यार सिखाए…………………।
(3)
इन्द्रधनुषी हो जाएं सारे,मिलजुल गाएं होली में।
भेदभाव की तोड़े दीवारें,भरलें प्यार बोली में।
बुराई पर अच्छाई की जीत,का त्योहार होली का।
प्यार सिखाए…………………।
(4)
देते हैं शुभकामनाएँ,फूलें-फलें”प्रीतम”यहाँ सभी।
गले मिलें,कभी न लड़े,फूल-ख़ुशबू से रहें सभी।
देता है संदेश यही,ये त्योहार.रे भाई!होली का।
प्यार सिखाए भेद भुलाके,ये त्योहार होली का।
रंगबिरंगे फूलों जैसा,है त्योहार ये होली का।
*************
*************
राधेयश्याम बंगालिया
प्रीतम…….कृत

Author
Recommended Posts
होली खेलो यार मीत ,यह बात मैं दिल से करता हूं। रंग में भर के प्यार आज,दुनिया को रंग मैं रंगता हूं। प्रेम का आधार... Read more
** इक दूजे के होंलें हम **
रंगो का त्यौहार है होली अपनों का प्यार है होली भूलों का सुधार है होली गुलो से गुलज़ार है होली।। ?होली मुबारक मिल जायें होली... Read more
बरसे है रंग.................... होली आई आज
बरसे है रंग और उड़े है गुलाल होली आई, होली आई, होली आई आज सुर भी है ताल और गीतों के साथ होली आई, होली... Read more
शिल्प- 1 2 3 2 1 शब्द (1) होली का त्योहार जीवन में लाया रंगों की बौछार। (2) होली में जलते अत्याचार, कपट, छल निष्पाप... Read more