Skip to content

हैं टुन्न सभी पीना पिलाना क्या करे

Kapil Kumar

Kapil Kumar

गज़ल/गीतिका

October 16, 2016

दे कोई गम जो दुबारा क्या करें
न कोई तुम सा हमारा क्या करें
*************************
है गम तो अब बहाना क्या करें
है तू तो फिर जमाना क्या करें
************************
है तू अपना तो बेगाना क्या करें
तू नही तो आना’ जाना क्या करें
************************
हैं बहर मुश्किल तराना क्या करें
हैं तर अश्क में ,नहाना क्या करें
***********************
है ‘कपिल’ गम ये पुराना क्या करें,
हैं टुन्न सभी पीना पिलाना क्या करें
************************
कपिल कुमार
16/10/2016

अश्क़…….आँसू

Share this:
Author
Kapil Kumar
From Belgium
Recommended for you