हे गिरधारी कृष्ण मुरारी

हे गिरधारी कृष्ण मुरारी ,मुरली आज बजाओ ।
कश्मीर में आग लगी है , इसकी आग बुझाओ ।।
गायें कटतीं चौराहों पर ,इनके प्राण बचाओ।
हे गिरधारी कृष्ण मुरारी,मुरली आज बजाओ।।

जब-2 धरम हुआ है घायल,तुमनेमरहमलगाया है।
लाज बचाई, द्रुपदजा की, आकर चीर बढाया है।
आज राष्ट्र को अहम् जरुरत,अपने कदम बढाओ।
हे गिरधारी कृष्ण मुरारी,मुरली आज बजाओ।

वीराना है यमुना का तट, वन जंगल वीरान हुआ।
माया के मद में अँधा हो, इंसां भी शैतान हुआ।।
यमुना मैली ,दूषित जल है ,उसको साफ़ कराओ।
हे गिरधारी कृष्ण मुरारी,मुरली आज बजाओ।।

3 Views
साहित्यिक नाम-अटल मुरादाबादी विधि नाम-विनोद कुमार गुप्त शिक्षा-बी ई(सिविल इंजी०) एम०बी०ए०,एम०फिल(एच आर एम) सम्प्रति -सरकारी...
You may also like: