गीत · Reading time: 1 minute

हे गिरधारी कृष्ण मुरारी

हे गिरधारी कृष्ण मुरारी ,मुरली आज बजाओ ।
कश्मीर में आग लगी है , इसकी आग बुझाओ ।।
गायें कटतीं चौराहों पर ,इनके प्राण बचाओ।
हे गिरधारी कृष्ण मुरारी,मुरली आज बजाओ।।

जब-2 धरम हुआ है घायल,तुमनेमरहमलगाया है।
लाज बचाई, द्रुपदजा की, आकर चीर बढाया है।
आज राष्ट्र को अहम् जरुरत,अपने कदम बढाओ।
हे गिरधारी कृष्ण मुरारी,मुरली आज बजाओ।

वीराना है यमुना का तट, वन जंगल वीरान हुआ।
माया के मद में अँधा हो, इंसां भी शैतान हुआ।।
यमुना मैली ,दूषित जल है ,उसको साफ़ कराओ।
हे गिरधारी कृष्ण मुरारी,मुरली आज बजाओ।।

1 Like · 33 Views
Like
You may also like:
Loading...