Jan 31, 2017 · कविता
Reading time: 1 minute

हूं मैं कहां…

मैं रहती हूं,
पर हूं कहाँ।
मैं सहती हूँ,
पर हूं कहाँ।
मैं डरती हूं,
पर हूं कहाँ।
मैं मरती हूं,
पर हूं कहाँ।
मैं लड़की हूं,
मैं हूँ यहाँ। मेरी एक साँस से पहले,
मारी जाती हूँ।
कौन कहता है,
लड़का ही नाम करेगा। मैं हूँ एक इंसान,
पर क्यूं समझे शैतान,
क्या लड़का है भगवान।
फिर मैं हूँ कहाँ,
मैं भी तो हूं यहाँ।

Votes received: 12
194 Views
Tanishka Chaudhary
Tanishka Chaudhary
1 Post · 194 Views
मैं भगवान श्री कृष्ण की जन्मस्थली मथुरा (उत्तरप्रदेश) की रहने वाली हूँ एवं कक्षा 8... View full profile
You may also like: