Skip to content

हिंदुस्तान

LAKHNAWI JI (लखनवी जी)

LAKHNAWI JI (लखनवी जी)

कविता

January 4, 2017

हिंदुस्तान आएगा !!
मेरा ये हौसला देखो वतन के काम आएगा;
तिरंगे की हिफाज़त में ये हिंदुस्तान आएगा !!
जवानी वो नही होती जो यूँही बीत जाती है;
जवानी बस वही है जो वतन के काम आएगा;
तिरंगे की हिफाज़त में………………………!!

के हर कतरा लहू का इस वतन के काम आएगा;
ज़ुबां जब तक चलेगी बस वतन का नाम आएगा !!
वतन की शान-वो-शौक़त को जो दिल में रख नही सकते;
कसम मुझको हिमालय की वो जिन्दा बच नहीं सकते !!
ईसाई, सिख, ये हिन्दू, मुसलमा साथ आएगा !!
तिरंगे की हिफाज़त में ………………………….!!

नहीं मुझको किसी के प्यार की तब तक जरूरत है;
के जब तक इस इमारत में हिन्दुस्तां की मूरत है !!
गिर जाऊं, फिसल जाऊं के फिर भी रो नहीं सकता;
भारत की ज़मी पर ये कभी भी हो नही सकता !!
वतन है जान ये मेरी वतन के काम आएगा ;
तिरंगे की हिफाज़त में…………………….!!

के कोई कह दे के हिंदुस्तान मुर्दाबाद है सुन लूँ ;
बग़ावत शान में हिन्दुस्तां के क़त्ल-ए-आम ही कर दूँ!!
नज़र डालो हिमालय से जहाँ तक डाल सकते हो ;
लगाकर कान धरती में ये धड़कन जान सकते हो !!
के साँसों की ये माला पर वतन श्रृंगार आएगा ;
तिरंगे की हिफाज़त में ………………………..!!

Author
Recommended Posts
कभी कली पे भी हुस्नो ज़माल आएगा
उरुज आज है तो कल ज़वाल आएगा अगर माँ बाप को घर से निकाल आएगा दगा है खून में तेरे पता नही तुझको किसी तो... Read more
देश के वीरों को  सलाम
है सलाम देश के वीरो तुम्हें शत शत नमन तुम्हीं से कायम आन खिला है यह चमन देश की हिफाज़त बस तुम्हारा ही काम न... Read more
हमें वो देने ख़ुशी बेहिसाब आएगा
हमें वो देने ख़ुशी बेहिसाब आएगा शिकायतों की मगर ले किताब आएगा हमारी नज़रों से गर आसमान में देखो तुम्हें हमारा नज़र माहताब आएगा न... Read more
हालाते वतन
जुल्म की दुनिया.सब खौफ है.सब खौफ है....रहनुमा जो बन गया .रहगुजर वो और है.......कल तक सम्हाला था जिन्होने वतन की आबरू ...घर की आबरू बेच... Read more