.
Skip to content

हास्य व्यंग्य

तेजवीर सिंह

तेजवीर सिंह "तेज"

गीत

April 8, 2017

?? हास्य व्यंग्य ??
विधा-गीत
लय-स्वतन्त्र
?विषय – ये है यूपी पुलिस…..?

??????????

बचो रोमियो वरना भर देगी भुस।
तेरी जूलियट हो सकेगी न खुश।
किसी हाल में भी न ले लेना किस।
ये है यूपी पुलिस,ये है यूपी पुलिस।

??????????

चलो त्याग दो ये मुई आशिक़ी।
सलामत रहे जान औ जिंदगी।
कहीं दूर बैठे ही कर लेना विश।
ये है यूपी पुलिस,ये है यूपी पुलिस।

??????????

गए पार्क में तो धुले जाओगे।
कुट-पिट कैसे नजरें मिलाओगे।
कर देगी इश्क़ तेरा टांय-टांय फिस।
ये है यूपी पुलिस,ये है यूपी पुलिस।

??????????

थमा *तेज* तूफान नलियों में है।
डरा-सहमा हर आशिक़ गलियों में है।
किये जा रहा अपनी माशूका मिस।
ये है यूपी पुलिस,ये है यूपी पुलिस।

??????????
© तेज

Author
तेजवीर सिंह
नाम - तेजवीर सिंह उपनाम - 'तेज' पिता - श्री सुखपाल सिंह माता - श्रीमती शारदा देवी शिक्षा - एम.ए.(द्वय) बी.एड. रूचि - पठन-पाठन एवम् लेखन निवास - 'जाट हाउस' कुसुम सरोवर पो. राधाकुण्ड जिला-मथुरा(उ.प्र.) सम्प्राप्ति - ब्रजभाषा साहित्य लेखन,पत्र-पत्रिकाओं... Read more
Recommended Posts
कविता हास्य व्यंग्य भी !
हास्य व्यंग्य :- . आजकल चिल,थ्रील,सस्पैंस का जमाना है, इसलिए मिर्च-मसालों का ज्यादा प्रयोग होता है, जिसे भी देखिये, या तो, खाने में लगा है,... Read more
(गीत) चाह तेरी मेरी आँखों मे
Geetesh Dubey गीत Apr 6, 2017
चाह तेरी, मेरी आँखों मे देख सको तो पढ लेना साँस मेरी खुद की धड़कन मे जान सको तो सुन लेना ॥ अपने मन मंदिर... Read more
गजल
???गजल??? कभी दिल करे पास आया करो। अपने नाचीज को आजमाया करो। झेल जाओगे है ये जमाना बुरा। देख कर के कोई चीज खायां करो।... Read more
व्यंग्य
पुलिस बनाम लोकतंत्र +रमेशराज -------------------------------------------------- लोकतंत्र में पुलिस की भूमिका को नकारा नहीं जा सकता। अब आप कहेंगे कि लोकतंत्र से पुलिस का क्या वास्ता!... Read more