.
Skip to content

हास्य कविता-जब भी मिलेगा जाम

डॉ तेज स्वरूप भारद्वाज

डॉ तेज स्वरूप भारद्वाज

कविता

October 7, 2016

कल हमें कहीं जाने का एक पड़ा काम।
तभी रास्ते में लग गया बहुत बड़ा जाम।
टेम्पू और दो बसें अटी-सटी खड़ी थीं ।
लोगों के आने -जाने में बाधायें बड़ी थीं
दो बसों के बीच से कुछ पतले लोग निकल रहे थे ,
कुछ कुत्ते बसों के नीचे से होकर चल रहे थे ।।
हमने भी सोचा कि हम भी बीच से होकर निकल जायें,
अपनी जगह पर पहुँच कर जल्दी से काम कर आयें ।।
यही सोचकर हमने बीच से निकलना चाहा ,
हाथ पैर निकाले और अपना मोटा पेट बीच में सटाया ।।
हमें लगा कि हम बीच में गये फँस,
आश्चर्य चकित देख रहे थे हमें लोग हँस
इतने में उधर से एक मोटा व्यक्ति आया
आब न ताब देखा बीच में अपना मोटा पेट सटाया ।।
हम दोनों ओर बसों के बीच फँस रहे थे
हमें देख सभी लोग जोर जोर से हँस रहे थे ।।
इतना देख हम दोनों ने बहुत जोर लगाये,
कुछ फँसे थे दायें कुछ फँसे थे बायें ।।
हारे पहलवान से हम बीच में थे ठाड़े,
इस जोर की आजमाइश में हमने अपने कपड़े फाड़े।।
ऐसा लगा कि जैसे हमने योद्धा हों पछाड़े।।
भीगी बिल्ली से हम पढ़ रहे थे पहाड़े।।
इतनी देर में ड्राइवर ने बस की स्टार्ट,
जगह हो जाने पर जाम खुल गया फटाक ।।
हमने पकड़े कान खाई कसम फिर ऐसे न करेंगे काम ,
इंतजार कर लेंगे हमें जब भी मिलेगा जाम।।

Author
डॉ तेज स्वरूप भारद्वाज
Assistant professor -:Shanti Niketan (B.Ed.,M.Ed.,BTC) College ,Tehra,Agra मैं बिशेषकर हास्य , व्यंग्य ,हास्य-व्यंग्य,आध्यात्म ,समसामयिक चुनौती भरी समस्याओं आदि पर कवितायें , गीत , गजल, दोहे लघु -कथा , कहानियाँ आदि लिखता हूँ ।
Recommended Posts
हास्य कविता-जब भी मिलेगा जाम
कल हमें कहीं जाने का एक पड़ा काम। तभी रास्ते में लग गया बहुत बड़ा जाम। टेम्पू और दो बसें अटी-सटी खड़ी थीं । लोगों... Read more
कविता : ??सीखा हमने??
मौसम की तरह बदलना नहीं सीखा हमने। सबसे गले मिलते हैं जलना नहीं सीखा हमने।। सफलता पर दुश्मन को भी दाद दी खुशी से। मुँह... Read more
हास्य -व्यंग्य कविता
हास्य -व्यंग्य कविता -------------------------- एकवार B.Ed.में हमारा भी गया टूअर, Cultural Programms में हम बड़े हो थे poor। कुछ देरबाद हमारा भी नम्बर आया ,... Read more
*गज़ल*
जान जाने के हैं' आसार खुदा जाने क्यों आप से हो गया' है प्यार खुदा जाने क्यों बात जिनमें हो तुम्हारी ही तुम्हारी केवल अच्छे... Read more