हाइकू(9)

हाइकू9
=====
सुख दुःख तो
आते जाते रहेंगे,
फिक्र न कर।
+++++++
दु:ख आया है
पहाड़ बनकर,
जाने के लिए।
++++++++
सुख दु:ख तो
स्थाई भाव नहीं,
चला ही जाता।
+++++++++
सब कहते
सुख दु:ख जीवन,
सत्य वचन।
+++++++++
सुख आया है
चला भी तो जायेगा,
आने के लिए
+++++++++
@सुधीर श्रीवास्तव

Like 2 Comment 0
Views 4

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share