हाइकु · Reading time: 1 minute

हाइकु

1- पंख आने दो
मैं भी उड़ जाऊँगा
आसमान में।

2- मित्र ने देखा
मित्र मुसीबत में
नौ दो ग्यारह।

3- शिकवे मिटे
आंकड़ा छत्तीस था
तिरसठ है।

4- खरी कथनी
दिल करे छलनी
खोटी लगनी।

5- दो अक्षरों से
तीन पाँच करना
सीखी दुनियाँ।

6- गांव गुम है
आकर शहर में
ओढ़ा मुखौटा।

7- केंद्र में तुम
परिधि पे मैं जमा
काटे चक्कर।

8- तुम्हारे अंक
मेरा शून्य लेकर
दहाई बने।

9- न नौ नकद
न तेरह उधार
कैसा व्यापार?

10- मित्र यूँ मिले
दोषारोपण शुरू
दुश्मन भले।

संजय नारायण

4 Likes · 34 Views
Like
214 Posts · 10.3k Views
You may also like:
Loading...