.
Skip to content

हाइकु

कमलेश यादव

कमलेश यादव

हाइकु

May 8, 2017

हाइकु :-
(१)
माँ की लाडली
गयी नये घर में
पाले लाडली
(२)
नहीं आसान
सच की राह पर
चलना अब
(३)
प्यासी चिड़िया
ढूँढ लेगी जल को
जीतेगा कर्म
(४)
भरी दोपहर
कर्म करते हाथ
सुकून शाम

Author
कमलेश यादव
जन्म:- लोरमी,छत्तीसगढ़(भारत) शिक्षा- नेशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नॉलजी रायपुर, छत्तीसगढ़ से कम्प्यूटर टेक्नॉलजी में स्नातकोत्तर। सम्राट अशोक टेक्नॉलजी कॉलेज विदिशा (म प्र) से कम्प्यूटर साइंस में स्नातक। स्थान- न्यूयॉर्क, यूएसए कार्यक्षेत्र- ९ वर्ष तक कालेज अध्यापन अब स्वतंत्र लेखन। ब्लाग लेखन।... Read more
Recommended Posts
हाइकु वाटिका की समीक्षा
हाइकु वाटिका [साझा हाइकु संग्रह] संपादक - प्रदीप कुमार दाश "दीपक" प्रकाशक :    माण्डवी प्रकाशन, गाजियावाद (उ.प्र.) प्रकाशन वर्ष : फरवरी 2004      मूल्य : 100/----... Read more
मइनसे के पीरा [छत्तीसगढ़ी हाइकु संग्रह की समीक्षा]
छत्तीसगढ़ी हाइकु संग्रह : मइनसे के पीरा : प्रदीप कुमार दाश "दीपक" छत्तीसगढ़ी का प्रथम हाइकु संग्रह : प्रकाशक - छ. लेखक संघ सरिया MAINSE... Read more
नववधु
#हाइकु# पल में रोए उजाड़ सी होकर वो नववधु महकती थी बाबुल के आँगन विदा हो रही माँ की लाड़ली आँगन की चिड़िया है उड़... Read more
उम्मीद: सात हाइकु
उम्मीद: सात हाइकु // दिनेश एल० “जैहिंद” आशा आशय मनसा प्राकृतिक जग ऐच्छिक । ×××××××× कर्म है आज कामना है कल कोख भविष्य । ×××××××××... Read more