हाइकु :-- पेट की आग !!

!! पेट की आग !! हाइकु

पेट की आग !
ठण्डा ना कर सका ,
ये ठण्डा माघ !!

तपती भूख !
आज रात का चाँद ,
रोटी सा लगा !!

अनुज तिवारी
उमरिया mp

Like Comment 0
Views 104

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing