Jun 6, 2016 · मुक्तक
Reading time: 1 minute

हरदम खेल दिखाये

नए ज़िन्दगी देखो हमको हरदम खेल दिखाये
अगर हँसाती हमें कभी तो ये ही हमें रुलाये
एक मदारी है ईश्वर औ हम सब यहाँ जमूरे
डोर उसी के हाथों में वो जैसा हमें नचाये
डॉ अर्चना गुप्ता

47 Views
Copy link to share
#26 Trending Author
Dr Archana Gupta
Dr Archana Gupta
984 Posts · 102.8k Views
Follow 59 Followers
डॉ अर्चना गुप्ता (Founder,Sahityapedia) "मेरी तो है लेखनी, मेरे दिल का साज इसकी मेरे बाद... View full profile
You may also like: