.
Skip to content

हम आप और हिंदी ( १४ सितम्बर )

मदन मोहन सक्सेना

मदन मोहन सक्सेना

कविता

September 14, 2016

हिंदी दिवस की आप सबको शुभ कामनाएं

लिखो जज्बात हिंदी में
करो हर बात हिंदी में
हम भी बोले हिंदी में
तुम भी बोलो हिंदी में

जय हिंदी जय हिंदुस्तान मै भारत बने महान

हम आप और हिंदी ( १४ सितम्बर )
मदन मोहन सक्सेना

Author
मदन मोहन सक्सेना
मदन मोहन सक्सेना पिता का नाम: श्री अम्बिका प्रसाद सक्सेना संपादन :1. भारतीय सांस्कृतिक समाज पत्रिका २. परमाणु पुष्प , प्रकाशित पुस्तक:१. शब्द सम्बाद (साझा काब्य संकलन)२. कबिता अनबरत 3. मेरी प्रचलित गज़लें 4. मेरी इक्याबन गजलें मेरा फेसबुक पेज... Read more
Recommended Posts
जीवन का सार है हिंदी....
जीवन का सार है हिंदी हिंदुस्तानियों का अभिमान है हिंदी... भारत भूमि देवी सामान तो देवी का श्रृंगार है हिंदी.. जय हिंद की भाषा है... Read more
जय हिंदी जय हिंदी नारा हम सब खूब लगाते हैं
जय हिंदी जय हिंदी नारा हम सब खूब लगाते हैं बड़े बड़े आयोजन करके हिंदी दिवस मनाते हैं सच्चे ज्ञानी वही यहाँ जो फट फट... Read more
पहली नजर में उनके मुरीद हुए
ये तो हम जानते हैं कैसे बीत रहे हैं पलछिन, एक अरसा बीत गया है उनकी दीद हुए, न जाने उन्हें हमारा ख्याल भी आता... Read more
हमारी हिंदी
तीन कुण्डलिया *********** 1 हिंदी अपने हिन्द के ,स्वाभिमान का हार इसकी रक्षा को रहें , हम हरदम तैयार हम हरदम तैयार , राष्ट्र की... Read more