.
Skip to content

** हमारी सड़क सी सपाट जिंदगी **

भूरचन्द जयपाल

भूरचन्द जयपाल

अन्य

March 20, 2017

हमारी सड़क सी सपाट जिंदगी में
मौत एक स्पीड ब्रेकर की तरह है
जो हमे बार-बार सावधान करती है
फिर भी हम जिंदगी की रफ़्तार को
नहीं समझ पाते हैं और एक दिन
ऐसा आता है जब हमे मौत
अपने साथ ले जाती है
जिंदगी फिर भी हमें बार-बार
मौका…….. नही देती है
*****************
मौत तो फिर भी हमें
आगाह करती रहती है
*****************
हम ही है उसकी भाषा नहीं समझ पाते हैं
जब समझ आती है बहुत देर हो जाती है
********************************
नमन है सृष्टि को प्रकाशित
करनेवाली उस अज्ञात शक्ति को ।।
?मधुप बैरागी

खूबसुरती ख्वाबों में नहीं

निगाहों में होनी चाहिए

आनन्द नजारों में नहीं

नजरों में होना चाहिए।।
?मधुप बैरागी

Author
भूरचन्द जयपाल
मैं भूरचन्द जयपाल सेवानिवृत - प्रधानाचार्य राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, कानासर जिला -बीकानेर (राजस्थान) अपने उपनाम - मधुप बैरागी के नाम से विभिन्न विधाओं में स्वरुचि अनुसार लेखन करता हूं, जैसे - गीत,कविता ,ग़ज़ल,मुक्तक ,भजन,आलेख,स्वच्छन्द या छंदमुक्त रचना आदि में... Read more
Recommended Posts
*इन्विट्रो फर्टेलाईजेशन* के साईड एफेक्ट  पर एक कहानी
*इन्विट्रो फर्टेलाईजेशन* जैसे अविष्कार ने आज कल जिस तरह एक व्यापार का रूप ले लिया है,जैसे कि कुछ लोग तो सही मे औलाद चाहते हैं... Read more
नई सुबह - कहानी -- निर्मला कपिला1
नई सुबह - कहानी -- निर्मला कपिला1 आज मन बहुत खिन्न था।सुबह भाग दौड करते हुये काम निपटाने मे 9 बज गये। तैयार हुयी पर्स... Read more
कहानी---  गुरू मन्त्र----  निर्मला कपिला
कहानी--- गुरू मन्त्र---- निर्मला कपिला मदन लाल ध्यान ने संध्या को टेलिवीजन के सामने बैठी देख रहें हैं । कितनी दुबली हो गई है ।... Read more
सुखदा------ कहानी
कहानी इस कहानी मे घटनायें सत्य हैं मगर पात्र आदि बदल दिये गये है। ओझा वाली घटना एक पढे लिखे और मेडिकल प्रोफेशन मे काम... Read more