***हमारी निराली मेट्रो ट्रेन*** बाल कविता

**ट्रेन है मेट्रो बड़ी निराली
भू-तल से ऊपर चलने वाली
समय सभी का यह बचाती
मिनटों में गंतव्य पहुँचाती ||

**ए.सी भी इसमें चलता है
महिला डिब्बा अलग होता है
ध्वनि विस्तारक यंत्र के द्वारा
गंतव्य का पता चलता है ||

**भीड़-भाड़ ट्रैफिक से जब
बचना हो तुम्हें अगर
तुम भी मेट्रो ट्रेन में जाना
समय और पैसा दोनों बचाना ||

**समय सभी के लिए अनमोल
तभी तो इसका नहीं कोई मोल
मेट्रो ट्रेन का सफर अपनाओ
समय और पैसा दोनों बचाओ ||

Like Comment 0
Views 172

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing