शेर · Reading time: 1 minute

” हमदर्द ना मिले “

जिंदगी में तुझे भी ऐसा वक्त मिले ,
तु लाखों दलिले पेश करें |
पर तुझे भी कोई समझ ना सकें ,
तु तड़पता रहे और तुझे कोई हमदर्द ना मिलें |

3 Likes · 2 Comments · 50 Views
Like
253 Posts · 11.7k Views
You may also like:
Loading...