Skip to content

!!! स्वार्थी संसार के कुछ लोग !!!

अजीत कुमार तलवार

अजीत कुमार तलवार "करूणाकर"

कविता

February 17, 2017

दुनिया को न जाने क्या हो चला है
हर वक्त खून उबाल कर रखती है
किसी पर भी लांछन लगा देने
की बहुत कुव्वत रखती है !!

अपने स्वार्थ के आगे उनको कुछ नहीं भाता
दर्द खुद के अंदर हैं पर दुसरे का सुख बहुत सताता
अपनी खोदी कब्र पर नजर नहीं उनकी
दूसरे की मय्यत देख दिल न जाने क्यूं भाता !!

किसी की तो दुनिया उजड़ गयी
कोई तो बर्बाद हो रहा है
किसी के दिल पर क्या गुजर रही है
बस उस का तमाशा देखना इनको है आता !!

कीचड कैसे उछाला जायेगा
मानसिकता कैसे किसी की भंग की जाएगी
जीवन में कुछ ऐसे लोगो को
न जाने किस तरह का आनन्द है आता !!

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

Recommended
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है मगर छन भी आती कहीं रोशनी है न करती लबों से वो शिकवा शिकायत मगर बात नज़रों से... Read more
Author
अजीत कुमार तलवार
शिक्षा : एम्.ए (राजनीति शास्त्र), दवा कंपनी में एकाउंट्स मेनेजर, पूर्वज : अमृतसर से है, और वर्तमान में मेरठ से हूँ, कविता, शायरी, गायन, चित्रकारी की रूचि है , EMAIL : talwarajit3@gmail.com, talwarajeet19620302@gmail.com. Whatsapp and Contact Number ::: 7599235906