Skip to content

सोशल मीडिया हास्य व्यंग्य 2

Kaushlendra Singh Lodhi

Kaushlendra Singh Lodhi

कुण्डलिया

April 2, 2017

1. काका लगे हैं फेसबुक, काकी विडिओ काल।
दादा TG में बिजी, जिओ ने किया कमाल।।
जिओ ने किया कमाल, बिजी व्हाट्सप में दादी।
बच्चे बिधे यूट्यूब, हाय नेट की आजादी।।
कहि ‘कौशल’ कविराय, ऑनलाइन मेरे आका।
बीबी इंस्टाग्राम, मस्त FB में काका।।.

Author
Kaushlendra Singh Lodhi
कौशलेन्द्र सिंह लोधी "कौशल" कवि नि. मतरी बर्मेन्द्र, तहसील-उन्चेहरा, जिला-सतना (म.प्र.) I राजस्व निरीक्षक पद पर तहसील-पलेरा, जिला-टीकमगढ़ (म.प्र.) में सेवारत I शिक्षा - बी.एस-सी.(MPG)
Recommended Posts
“जै कन्हैयालाल की! [ लम्बी तेवरी तेवर-शतक ]  +रमेशराज
कृष्ण-रूप में कंस जैसे हर शासक के प्रति- “जै कन्हैयालाल की! [ लम्बी तेवरी तेवर-शतक ] +रमेशराज ..................................................... जन को न रोटी-दाल, जै कन्हैयालाल की!... Read more
पीना न शराब ही
खुशियाँ ही लेना देना दुःख में चना चबेना गम चाहे पी ही लेना पीना न शराब ही।। डर नहीं जाना तुम मर नहीं जाना तुम... Read more
जिंदा रहते हैं कमाल करते हैं
छोड़िये ये बेकरारी, बेसबब , लोग चिल्लाते हैं बेमतलब, जिंदा रहते हैं कुछ लोग मर कर भी , जायेँ श्मशान में या रहें कब्रों में... Read more
फुर्सत
जब महफिल उठ गयी तो घर याद आया है । किस कामयाबी पर नाज़ करें , ऐसा कुछ किया क्या है ? कुछ करते हैं... Read more