सेल्फी

‘हैप्पी वैलेंटाइन डे’ फोन पर रोहित की चहकती हुई आवाज आ रही थी । हिना उदास भरी आवाज में बोली’ हैप्पी वैलेंटाइन डे टू यू टू डियर। तुम्हारे बिना आज बिल्कुल अच्छा नहीं लगता ।हर साल अकेले ही मनाती हूँ इसे मैं ।” रोहित थोड़ा चुप हुआ फिर बोला “कोई बात नहीं। हमारे दिल तो पास पास हैं न । तुम हर बार की तरह इस बार भी शाम को पूरा श्रृंगार करके मेरी भेजी हुई साड़ी पहनकर अपनी फोटो मुझे भेजना । मैं उसे देखकर कर ही ये दिन मना लूंगा । मैं भी शाम को तुम्हें अपनी फोटो भेजूंगा ।दोनों सेल्फी सेल्फी से वैलेंटाइन डे मनाएंगे। दोनों वीडियो चैट करेंगे। अभी फोन काट रहा हूँ हम जम्मू से पुलवामा जा रहे हैं । बाय बाय । ” हिना मुस्कुरा दी । जानती थी रोहित फौज में है । नहीं आ सकता । मजबूर है।
शाम हुई । रोहित की भेजी हुई सुर्ख लाल रंग की साड़ी पहनी गजरा लगाया खूब श्रृंगार किया । वक़्त नहीं कट रहा
था तो टी वी देखने बैठ गई । रोहित के फोन का उसे बेसब्री से इंतज़ार था । उसकी शक्ल देखने के लिए बावली सी हुई जा रही थी। दिल घबरा सा रहा था । हालांकि पिछले तीन वैलेंटाइन भी ऐसे ही मनाए थे ।पर पता नहीं आज कैसी बेचैनी सी थी। टीवी पर कोई न्यूज़ चैनल लगा लिया । तभी उसे पुलवामा का नाम सुनाई दिया । चौंक कर जो देखा उसके तो होश ही उड़ गए। कब तक बेहोश रही कुछ पता नहीं चला । जब होश आया तो बहुत लोगों के बीच घिरी थी। उसी श्रंगार में । और उधर रोहित के चीथड़े उड़ चुके थे । सेल्फी तो क्या वो तो उसके अंतिम दर्शन भी नहीं कर पाई । एक धमाके में उसकी ज़िन्दगी बिखर चुकी थी …..😢😢

19-02/2019
डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद

Like 1 Comment 1
Views 71

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing