23.7k Members 49.9k Posts

सुविधा के अनुसार

बदला खुद को वक्त पर,सुविधा के अनुसार!
उसने दरिया कर लिया,. जीवन का हर पार! !

नामदार हो देश का,…… या हो चौकीदार!
बदल रहा हर एक अब,सुविधा के अनुसार!

नेताओं ने झूठ की, ..खोली खूब दुकान!
सुविॆधा के अनुसार ही,बदलें नित्य बयान!!

नेताओं का देश मे, ये कैसा किरदार!
संंविधान से खेलते, सुविॆधा के अनुसार !!
रमेश शर्मा

2 Likes · 31 Views
RAMESH SHARMA
RAMESH SHARMA
मुंबई
498 Posts · 32.5k Views
दोहे की दो पंक्तियाँ, करती प्रखर प्रहार ! फीकी जिसके सामने, तलवारों की धार! !...