सुप्रभात

इतने बरस में हमने जाना
हार जीत बेमानी है
बस में अपने कुछ नहीं है
समय रेत या पानी है

1 Like · 47 Views
House wife, M. A , B. Ed., Fond of Reading & Writing
You may also like: