23.7k Members 50k Posts

सुप्रभात

हो कुछ इस भाँति चहुँओर प्रभात ।
शान्ति का साम्राज्य हो चहुँओर विराट ।।
प्रफुल्लित हो वन उपवन आँगन।
आनन्द मग्न हो कीट-पतंग और सबजन।।
हो चहुँओर समृद्धि धन और वैभव।

16 Views
Bharat Bhushan Pathak
Bharat Bhushan Pathak
DUMKA
104 Posts · 1k Views
कविताएं मेरी प्रेरणा हैं साथ ही मैं इन्टरनेशनल स्कूल अाॅफ दुमका ,शाखा -_सरैयाहाट में अध्यापन...
You may also like: