Sep 17, 2017
कविता · Reading time: 1 minute

सीख

जंत्र मंत्र तंत्र
सब करके देख लिया
पंडित ज्ञानी ध्यानी
सब पूछ के देख लिया ।

उनका कहना करना
सब करके देख लिया
लोगों के मन को
भांप के देख लिया ।

ठोकर खाकर धोखा खाकर
हमने अब सीख लिया
जीना है अब कैसे
ये सब जान लिया ।

हमने अपनी करने का
बस अब ठान लिया
जो भी होगा अंजाम
अब सब वो मान लिया ।।

राज विग

51 Views
Like
133 Posts · 12.6k Views
You may also like:
Loading...