Jun 19, 2019 · कविता
Reading time: 1 minute

“*सास हो तो ऐसी”*

मेरी प्यारी बहुरिया रानी, हर रिश्ता प्यार से निभाना !
मैं बन जाऊँगी मैया तेरी, तुम भी बेटी मेरी बन जाना !!

रोक टोक ना कोई तुम पर, अब ये घर तुमको है बसाना !
तुम ही मेरे घर की रौनक़ हो, तुमसे मिलकर ये मैंने जाना !!

तुम बिन अब सूना लागे, मेरे इस घर का कोना कोना !
तुमसे हैं इस घर में ख़ुशियाँ, तुम दुःखी कभी ना होना !!

तुम बिन रह सके ना कोई, घर में ऐसे घुल मिल जाना !
बेटे से भी प्यारी हो तुम, अब मुझसे दूर कभी ना जाना !!

कितना प्यारा रिश्ता है ये, इस दुनिया को है बतलाना !
पहले लड़ती होंगी सास बहु, अब बदल गया है जमाना !!

4 Likes · 2 Comments · 660 Views
Copy link to share
Neelam Chaudhary
110 Posts · 77.4k Views
Follow 42 Followers
*Writer* & *Wellness Coach* ---------------------------------------------------- मकसद है मेरा कुछ कर गुजर जाना । मंजिल मिलेगी... View full profile
You may also like: