मुक्तक · Reading time: 1 minute

सम्बन्ध

बादल और धरती का रिश्ता समझा है कभी
जब धरती प्यास के लिये तरसती है
तो बस बादल ही समझता है

प्रियमवदा शर्मा

1 Like · 32 Views
Like
4 Posts · 208 Views
You may also like:
Loading...