लेख · Reading time: 1 minute

सब उसकी मर्ज़ी

मैं अपनी तरफ़ से जान-बूझकर कोई गुनाह न करूं। इसके बाद जो हो सो हो-सब उसकी मर्ज़ी!

18 Views
Like
579 Posts · 7.9k Views
You may also like:
Loading...