31.5k Members 51.9k Posts

सज्जन का अपमान

Apr 5, 2020 07:56 PM

दुष्टों का होता रहे,……..जहाँ सदा सम्मान ।
लाजिम है होना वहाँ ,सज्जन का अपमान ।।

सज्जनता का आजकल,यही एक आधार !
ताला रहे जुबान पर,……मांगे नही उधार !!
रमेश शर्मा.

1 Like · 20 Views
RAMESH SHARMA
RAMESH SHARMA
मुंबई
501 Posts · 33k Views
दोहे की दो पंक्तियाँ, करती प्रखर प्रहार ! फीकी जिसके सामने, तलवारों की धार! !...
You may also like: