Dec 21, 2017
· Reading time: 1 minute

सच

हम से भी ज्यादा,
कोई तुम्हारे करीब है क्या?
वक़्त मिले तो बता देना,
मेरा भी कोई रकीब है क्या?

खैर मुझे तो ठग ही लिया
तेरे इन मासूम आंखों ने,
और कोई हो जिसे लगता है
कि तुम्हें उससे मोहब्बत है ,
ऐसा भी कोई बदनसीब है क्या? :आलोक(गीत)

59 Views
Like
Author
9 Posts · 684 Views
Still studying in 12 class sub-mathematics, pass out from Netarhat residential school
You may also like:
Loading...