May 22, 2018 · कविता
Reading time: 1 minute

*सच सपने कर दिखलाएंगे*

सच होंगे सपने सारे ,
चमकेंगे बनके तारे !
तू फ़िक्र न कर मेरे यार ,
हो जाएंगे वारे न्यारे !!

जब हम दोनों हैं साथ ,
तो डर की क्या है बात !
हम दुनिया जीत ही लेंगे ,
जो चलेंगे मिलके साथ !!

आगे ही बढ़ते जाएंगे ,
अब कदम न रुकने पाएंगे !
हम बन्दे नहीं मामूली हैं ,
इस दुनिया को दिखलाएंगे !!

हर फ़िजा ख़ुशी बरसाएगी ,
मेहनत अपनी रंग लाएगी !
लग्न हमारी सच्ची है तो ,
ये दुनिया भी झुक जाएगी !!

सच सपने कर दिखलाएंगे ,
फिर मिलके जश्न मनाएंगे !
बन के हिम्मत की मिशाल ,
इस जग में हम छा जाएंगे !!

6 Likes · 600 Views
Neelam Chaudhary
Neelam Chaudhary
110 Posts · 77.1k Views
Follow 41 Followers
*Writer* & *Wellness Coach* ---------------------------------------------------- मकसद है मेरा कुछ कर गुजर जाना । मंजिल मिलेगी... View full profile
You may also like: