Reading time: 1 minute

सकारात्मक सोच

बी पॉज़िटिव
सकारात्मक सोच हो, रचनात्मक हों काम।
और आत्मविश्वास रख, सुन्दर स्वच्छ मुकाम।।
सुन्दर स्वच्छ मुकाम, इंद्रियां काबू रखिये।
मेहनत करिये खूब, आत्मनिर्भर बन रहिये।।
कहि ‘कौशल’ कविराय, करें कुछ प्रेरणात्मक।
हो समाज उत्थान, सदा सब सकारात्मक।।

©कौशलेंद्र सिंह लोधी ‘कौशल’

1 Like · 27 Views
Copy link to share
Kaushlendra Singh Lodhi Kaushal
56 Posts · 4.7k Views
Follow 3 Followers
कौशलेन्द्र सिंह लोधी "कौशल" कवि ग्राम- मतरी बर्मेन्द्र, तहसील- उंचेहरा, जिला- सतना (म.प्र.) का मूल... View full profile
You may also like: